Breaking News
Home / टेक्नोलॉजी / परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व अध्यक्ष पद्मश्री डॉ शेखर बसु का कोरोना वायरस से हुआ निधन

परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व अध्यक्ष पद्मश्री डॉ शेखर बसु का कोरोना वायरस से हुआ निधन

एम आर फरुकी उप संपादक

वी आई एन न्यूज़ / लखनऊ  

डॉ शेखर बसु ने भारत के परमाणु ऊर्जा से संचालित पहली पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत के लिए बेहद जटिल रिएक्टर के निर्माण में निर्णायक भूमिका निभाया था

मिली जानकारी के अनुसार विख्यात परमाणु वैज्ञानिक और परमाणु ऊर्जा आयोग के पूर्व अध्यक्ष लंबे समय से बीमार होने तथा कोविड-19 से संक्रमित होने के कारण कोलकाता के एक निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली।

इनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया है कि-डॉक्टर बासु का निधन देश के लिए एक बड़ी क्षति है।

इस विषय में स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि वह किडनी संबंधित रोगों से पीड़ित होने के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण के भी शिकार थे।

आपको बताते चलें कि डॉ बसु पेशे से एक मैकेनिकल इंजीनियर थे एवं ‘परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम’ में योगदान देने के कारण उन्हें वर्ष 2014 में पद्मश्री सम्मान से भी नवाजा गया था।

इन्होंने भारत के परमाणु ऊर्जा से संचालित पहली पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत के लिए बेहद जटिल रिएक्टर के निर्माण में निर्णायक भूमिका निभाया था जिसके लिए देश इनका सदैव आभारी रहेगा।

ऐप इंस्टाल करने के लिए यहाँ क्लिक करें

यूट्यूब चैनल के लिए यहाँ क्लिक करें

फेसबुक पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

ट्विटर पर फ़ालो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *